Followers

4 Dec 2011

एक युग का अंत..देव साहब नहीं रहे..

आप हमेशा रहोगे हमारे दिलों में..
 मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया..हर फ़िक्र को धुयें में उडाता चला गया..

पल भर के लिए कोई हमें प्यार कर ले..झूठा ही सही ..अलविदा...अलविदा...अलविदा

1 comment:

Udan Tashtari said...

नमन एवं श्रद्धांजलि!!

There was an error in this gadget